Mahatma Gandhi Jayanti In Hindi: 2 अक्टूबर के लिए आदित्यनाथ ने दिए बड़े निर्देश

Mahatma Gandhi Jayanti In Hindi

हमारे देश के राष्ट्रपिता स्वर्गीय महात्मा गांधी जी का जन्मदिन आ गया है। जिसको हम महात्मा गाँधी जयंती (Mahatma Gandhi Jayanti In Hindi) के नाम से जानते हैं। इस बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने कुछ महत्त्वपूर्ण निर्देश दिए हैं। जो इस न्यूज़ आर्टिकल में आगे पड़ेंगे। उससे पहले मै आपको बता दूँ की इस बार महात्मा गाँधी जयंती 154वॉ बार के रूप में मनाएंगे।

इस दिन स्कूलों में, कालेजों में, छोटी-बड़ी संस्थाओं में अवकाश भी किया जाता है। आज के दिन देश भर में साफ़-सफाई का अभियान जोरों-सोरों से चलाया जाता है। वैसे तो बहुत से लोगों को पता होगा, जिनको नहीं पता होगा उनको बता दिया जाये की महात्मा गाँधी जी को हम प्यार से बापू भी कह कर बुलाते हैं। 

Mahatma Gandhi Jayanti In Hindi

राष्ट्र पिता महात्मा गॉंधी की जयंती पर सीएम योगी ने दिये दिशा-निर्देश:

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने राष्ट्र पिता महात्मा गॉंधी जी के 154वी जयंती पर सभी देशवासियों को बापू को ‘ स्वच्छांजलि’ देने का आह्वान किया है। शुक्रवार को एक उच्च स्तरीय बैठक में 1 अक्टूबर को 1 घंटे के स्वछता श्रमदान कार्यक्रम में भाग लेने के लिए दिशा निर्देश दिए। इस दौरान सीएम ने कहा कि जन-सहयोग से प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की ‘कचरा मुक्त भारत’ की परिकल्पना साकार होगी।

फ़िलहाल सीएम योगी के आदेशनुशार बेसिक व माधायमिक विद्यालयों के बच्चों प्रभात फेरी लगाकर’ ‘स्वछता ही सेवा’  का संदेश देंगे। आपको बता दे कि बापू की 154-वी जयंती पर 154 घंटों का विशेष स्वछता अभियान सफलता पूर्वक जारी है।

2 अक्टूबर क्यों मनाया जाता है? (Mahatma Gandhi Jayanti In Hindi):

आज ही के दिन यानि 2 अक्टूबर के दिन हमारे बापू यानि महात्मा गांधी जी का जन्म हुआ था। इसलिए हम 2 अक्टूबर के दिन ही गाँधी जयंती मानते हैं। गाँधी जी ने हमारे देश के लिए बहुत कुछ किये थें। जिनको कोई भी नहीं भूल सकता हैं। हमारे देश को आजाद करने में महात्मा गाँधी जी का बहुत बड़ा भूमिका था।

1942 में हमारे महात्मा गाँधी ही थे जो भारत छोड़ो आंदोलन का नारा दिया था। ऐसे बहुत से महत्वपूर्ण भूमिका हैं महात्मा गांधी जी का हमारे गुलाम देश को आजाद करने में। महात्मा गाँधी जी एक शांत स्वाभाव के इंसान थे। वो हमेशा अहिंशा के पक्ष में खड़े रहें। उन्हें शांति ज्यादा पसंद थी। यही सारी चीजें हैं जो हमारे महात्मा गांधी जी को सबसे अलग बनती है। हम 2 अक्टूबर को गाँधी जयंती के रूप में मानते हैं।

गाँधी जी का जन्म कब और कहा हुआ था? (Mahatma Gandhi Jayanti In Hindi):

वीरों को जन्म देने वाली इस भारत माता के धरती पर बहुत से वीर सपूत पैदा हुए। जिनमें से महात्मा गाँधी जी भी इसी भारत की धरती पर पैदा हुए हैं। अगर बात की जाए की भारत के किस जगह से महात्मा गाँधी जी का जन्म हुआ है तो वो सौभाग्य वाली जगह का नाम गुजरात राज्य के पोरबंदर जिले की हैं।

गाँधी जी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 ईस्वी को हुआ था। आज हम उनकी जयंती (Mahatma Gandhi Jayanti In Hindi) को 154वीं के रूप में मनाएंगे। इनके जयंती को जैसे आज हम मन रहें हैं वैसे हमेशा से मानते आ रहें हम लोग और आगे भी इसी तरीके से मानते रहेंगे। गांधी जी के बारे में पूरी जानकारी। 

गाँधी जयंती पर होने वाले कुछ विशेष कार्यक्रम:

इनकी जयंती पर पूरे भारत में इनके शांति, अहिंसा व उनके जीवन के संघर्ष पूर्ण घटनाओं को अपने जीवन में उतारने के लिए बहुत से कार्यक्रम किये जाते हैं। जिससे लोग ज्यादा-ज्यादा को गांधी जी के जीवन से प्रभावित हो सके। 2 अक्टूबर के दिन स्वच्छता और समाजिक कल्याण को बढ़ावा देने के लिए स्वछता अभियान और सामुदायिक सेवाएं आयोजित किये जाते हैं।

जिनमें कई छात्र निबंध लेखन,पेंटिंग कलाओं और महात्मा गाँधी से संबधित अन्य  प्रतियोगिताओं में भाग लेते हैं। जिससे उन्हें उनके जीवन और सिधांतों के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने में मदद मिलती हैं।

2 अक्टूबर 2023 क्यों है खास?

आज 2 अक्टूबर के दिन महात्मा गॉंधी का जन्म दिवस मनाया जाता है। जिनका पूरा नाम ‘मोहन दास करम चंद गाँधी’ है। आज के दिन पूरे देश के संस्थाओं, स्कूल व कालेजों में गीत-संगीत व सांस्कृतिक कार्यक्रम के माध्यम से उनको समर्पित किया जाता है।

संघर्ष और हिंसा से जूझ रही दुनिया को गाँधी के सत्य, अहिंसा और सविनय अवज्ञा के सिद्धांत से प्रासंगिक हैं। गाँधी जयंती हमारे यक्तित्व और समाजिक जीवन के आदर्शों को बनाये रखने के लिए याद दिलाती है।

इसे भी पढ़े: 5 अक्टूबर से होने वाली वर्ल्ड कप में भारत की पूरी शेड्यूल 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top